बाड़ू बाड़मेरी की कीड़ियों का सच

बचपन में चींटियों पर बहुत निगाह जाती थी । खड़े हो जाने और लंबे हो निकलने के साथ चींटियाँ दृष्टि से ओझल होती गईं । एक दिन आवारागर्दी कर हॉस्टल लौटे तो बाड़ू बाड़मेरी के खाखरों में सहस्त्रों चींटियों को प्रीतिभोज करते पाया । बाडू ज़ोर से चीखा, “कीड़ियाँ!”, और अपना माथा पकड़ लिया ।…

संजय दत्त को पुलिस ने आतंकवादी साबित होने से कैसे बचाया ?

12 मार्च 1993 को दोपहर डेढ़ से तीन चालीस के बीच मुंबई में 12 बड़े धमाके हुए । दाऊद इब्राहिम,उसके गुर्गे टाइगर मेमन और कई अन्य दुर्दांतों ने आईएसआई के साथ मिलकर एक खतरनाक षड्यंत्र रचा था । उन्हें पूरी उम्मीद थी कि ब्लास्ट के बाद सांप्रदायिक दंगे भड़क उठेंगे । इसलिए बम बनाने के…

Vijaya Lakshmi Pandit in Conversation with Three World Leaders

Besides being the daughter of Motilal Nehru and younger sister of Jawaharlal Nehru, Vijaya Lakshmi Pandit was among the most influential diplomats of independent India. She was sent as India’s first Ambassador to the USSR(1947-49). After that she represented the country in the US and Mexico between 1949 and 1951. She was elected the first…

मोबाइल नर नारायण : मोबाइल हाथ में लेकर एकला चलो रे !

चलते पंखे की आवाज़ आपको बीतते हुए समय का एहसास कराती है । घड़ी की सुइयों को रेंगते देखकर मन में गिंडोले सरकने लगते हैं । बहता हुआ नल अगर मटके या बाल्टी को भर रहा है तो समृद्धि का , पर अगर फिजूल पानी खर्च हो रहा है तो बरबादी का भाव देता है…

बंसल सर : जिस गणित के गुरु ने पढ़ाया हास्य-विनोद

मास्टर गणित के थे , पढ़ाई लेकिन ज़िंदगी  । गणित , और कोई भी अन्य विषय, कितना विनोदपूर्ण हो सकता है, यह विनोद जी ही नहीं समझाते तो समझाता कौन ? लेखक, पत्रकार या कोमेडियन होते तो भी बम्पर हिट रहते, पर फिर कोटा नगरी का कायाकल्प नहीं हो पाता । सत्रह से उन्नीस साल…

लौहपथगामिनी में दिव्य निपटान

(अगर आपको गंदगी , पाखाने और सच से घिन आती है तो कृपया आगे न पढ़ें , क्यूंकी यह ब्लॉग इन्हीं सब के बारे में है, और इसे पढ़ना भयावह हो सकता है ) वास्तविक टाइटल – “ट्रेन में टट्टी” बत्तीस घंटे का लंबा सफर है देवास से कोलकाता का । इतनी देर में किसी…

चल बसा एक समाजोपयोगी

परसों तक उसके मदिरा व्यसन और निद्रा प्रेम के चर्चे थे । कल वह अकाल मृत्यु को प्राप्त हो गया । बहुत से शोकातुरों ने बंद मुट्ठियों – खुले अंगूठों को अपने मुखों की ओर खींचकर उसकी मृत्यु में मदिरा के योगदान के बारे में पड़ताल करनी चाही । कुछ ने सीधे यकृत पर आक्षेप…

In Search of Lost Life in the Middle of the LOCKDOWN

I woke up with a start. This is just a matter of habit. I had no idea how long had I slept. I did not even retain the awareness of the room I was sleeping inside. Space and time have lost if not their whole meaning, then at least all importance. No one can go…

Tommy,the Pitbull

Eleven misguided perverts left the world a better place last month by hanging themselves to death in pursuit of spiritual bliss. I welcomed their suicides considering that such people would only have polluted more minds had they lived longer. They would surely have corrupted the air,water and earth that came in contact with them. In…

A Vegetable Vendor & My Moral Ambivalence

A vegetable vendor was looking to sell-off his blighted cauliflowers on the pronto .He offered a price-cut and threatened to top-off the deal with his crooked smile. I was neither tempted, nor amused. I did feel a pang of vague sympathy for the poor,unlucky man, but it did not pinch me enough  to offer him…

JUST ANOTHER TENNIS SESSION

Standing behind the baseline of Court Number 2 at the BTA, I was warming up for my tennis session.The morning sky was heavily overcast.Sensing that my coach was perhaps late, a casual court-side acquaintance  offered to hit balls with me. I had known this man for the past six months and was aware of how…

Three Stumps and Two Bails

2024 PC could not wait for Sundays.The backyard throw-downs helped to initiate his son, Arjun, into the world of cricket.It was too early, but the boy did exhibit promise.The ‘forward press’ as he played every ball would have made Virat proud.And he kept the ball on the ground.On the ground,always,ball after ball after ball.He batted…