क्या मैं एक फूलझाड़ू हूँ ?

fool

 

घर के कोने में खड़ा रहता हूँ ,

पर्दे के पीछे छुपा रहता हूँ ,

कोई बाहरी आकर रोज़ मुझे पकड़ता है ,

फिर ज़मीन पर ज़ोर-ज़ोर से रगड़ता है,

सूखे कचरे को उसके ससुराल से उठा लाता हूँ ,

मोदी-सेवक मैं सफाई का जरिया बन जाता हूँ । 1।

 

मुझे मालिक ने कभी अपने हाथ से छुआ नहीं ,

कभी इश्क़ में फना होकर मैं गीला हुआ नहीं ,

हर कोई मुझे पानी (इश्क़) से दूर रखता है ,

वापस जगह पर रखकर क्यूँ हाथ  धोता है ,

कहाँ है मुझमे फूल,कैसे में फूलझाड़ू हुआ ?

कोई क्यूँ न कभी मुझसे मोहब्बत पे उतारू हुआ ? (2)

 

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s